सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)

01 दिसम्बर से 08 दिसम्बर तक यह सप्ताह पूर्व सप्ताह की भॉंति अनुकूल फलप्रद रहना चाहिए। कॅरिअर से सम्बन्धित शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। व्यवसायी वर्ग को कुछ परेशानी का अनुभव हो सकता है। व्यवसाय में अपेक्षित तेजी न होने से कुछ हद तक निराशा हो सकती है, वहीं कुछ मामलों में घरेलू समस्याएँ परेशान […]

Continue Reading

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

01 दिसम्बर से 08 दिसम्बर तक यह सप्ताह आपके लिए सामान्यतः अनुकूल फलदायक है। धीरे-धीरे समय आपके लिए शुभ फलप्रद होता जा रहा है। उत्साह एवं पराक्रम में वृद्धि होगी। अपने पराक्रम से बिगड़ते हुए कार्यों को भी बना पाने में सक्षम होंगे। किसी महत्त्वपूर्ण व्यक्ति से मुलाकात होने से गर्व का अनुभव होगा। 09 […]

Continue Reading

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)

01 दिसम्बर से 08 दिसम्बर तक यह सप्ताह विगत सप्ताह की भॉंति अनुकूल फलप्रद रहना चाहिए। जिन मामलों को लेकर आप परेशान हो रहे थे, वे अब सुलझने लगेंगे। ॠणादि से सम्बन्धित समस्याएँ भी अब नियन्त्रित होंगी। मुकदमे एवं शत्रुओं से सम्बन्धित मामलों में राहत मिलेगी। प्रतियोगिता परीक्षार्थियों का प्रदर्शन बेहतर रहेगा। 09 दिसम्बर से […]

Continue Reading

वृषभ (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वि, वु, वे, वो)

01 दिसम्बर से 08 दिसम्बर तक यह सप्ताह भी मध्यम फलदायक व्यतीत हो सकता है। इसलिए सतर्कता अपेक्षित है। खान-पान में सावधानी रखने की आवश्यकता है, वहीं परिजनों एवं समाज में व्यवहार करते समय भी सावधानी रखें। अनावश्यक विवादों से बचना चाहिए। इन दिनों स्वभाव में झुंझलाहट एवं उग्रता रह सकती है। 09 दिसम्बर से […]

Continue Reading

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लु, ले, लो, आ)

01 दिसम्बर से 08 दिसम्बर तक यह सप्ताह आपके लिए विगत सप्ताह की तुलना में बेहतर व्यतीत होना चाहिए। सप्ताह के अन्त तक स्थितियॉं काफी कुछ ठीक होंगी। स्वास्थ्य यद्यपि इस सप्ताह प्रभावित होगा, परन्तु अन्त तक आते-आते इस मामले में भी राहत का अनुभव होगा। ट्रांसफर आदि के योग अभी भी हैं। 09 दिसम्बर […]

Continue Reading

त्वचा रोग : कारण एवं निदान

विभिन्न शारीरिक रोगों के अन्तर्गत त्वचा रोग सर्वाधिक रूप से पाए जाने वाला रोग है| वर्तमान समय में बढ़ते प्रदूषण के कारण इस रोग के रोगियों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है| यही कारण है कि गॉंवों की अपेक्षा शहरों में इस रोग से पीड़ित व्यक्तियों की संख्या अधिक है| त्वचा रोग अनेक रूपों […]

Continue Reading

डाउ़िंजग पेड़ की टहनी या धातु की छड़ से भविष्यवाणी

डाउ़िंजग एक ऐसी रहस्यमयी विधा है, जिसके अन्तर्गत भूमि में दबी वस्तुओं, जल की गहराई, विभिन्न धातुओं, बहुमूल्य रत्नों, भूमिगत तेल या हड्डियों का पता लगाया जाता है| यह कार्य पेड़ की छोटी टहनी या तॉंबा, पीतल इत्यादि धातुओं की छड़ की सहायता से किया जाता है| सर्वाधिक रूप से भूमिगत जल का पता लगाने […]

Continue Reading

जन्मपत्रिका से रोग विचार

‘मेडिकल एस्ट्रोलॉजी’ फलित ज्योतिष की वह शाखा है, जिसके अन्तर्गत विभिन्न रोग एवं उनके कारणों का ज्योतिष के आधार पर अध्ययन किया जाता है| प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में कभी न कभी रोगों से अवश्य पीड़ित होता है| कुछ व्यक्ति किसी विशेष रोग से बार-बार पीड़ित होते हैं, तो कुछ व्यक्ति किसी विशेष समय में […]

Continue Reading

जन्मपत्रिका से जानें सन्तान सुख

ज्योतिष शास्त्र में सन्तान सम्बन्धी विचार विशेष रूप से विचारणीय विषय है| फलित ज्योतिष की सभी विधाओं में इसका पृथक् से विस्तृत वर्णन प्राप्त होता है| फलित शास्त्र की सबसे महत्त्वपूर्ण विधा जन्मपत्रिका द्वारा फलकथन में पञ्चम भाव से सन्तान विचार किया जाता है| इस भाव की सुत भाव के रूप में संज्ञा दी गई […]

Continue Reading