16 जनवरी, 2021 (शनिवार)

💫 ज्योतिष सागर दैनिक पंचांग 💫 👉दिनांक : 16 जनवरी, 2021 (शनिवार) 👉राष्ट्रीय शक : 26 पौष 👉हिज़री सन् : 02 ज.उस्सानी 👉मास एवं पक्ष : पौष शुक्लपक्ष 👉तिथि : तृतीया (07:46 बजे तक) 👉नक्षत्र : शतभिषा (30:09 बजे तक) 👉योग : व्यतीपात (19:11 बजे तक) 👉करण : गर (07: 46 बजे तक) वणिज (19: […]

Continue Reading

कंकण सूर्यग्रहण (21 जून, 2020)

(Solar Eclipse : 21 June, 2020) 21 जून, 2020 को कंकण/ खण्डग्रास सूर्यग्रहण होगा। इस ग्रहण को भारत सहित एशिया के सभी देशों, उत्तरी अफ्रीका, दक्षिण-पूर्वी यूरोप आदि में मुख्यतः देखा जा सकेगा। ग्रहण का आरम्भ 09:16 बजे होगा और इसकी समाप्ति 15:04 पर होगी। भारत में यह 09:55 से पश्‍चिमी भागों में दिखाई देगा […]

Continue Reading

तानाशाही प्रवृत्ति और ज्योतिष

रामायण एवं महाभारत युग से ही जहॉं एक ओर लोककल्याणकारी राजाओं के उदाहरण मिलते हैं, वहीं तानाशाही प्रवृत्ति वाले क्रूर शासकों के भी उदाहरण मिलते हैं| दशरथ, जनक, राम, युधिष्ठिर जैसे लोककल्याणकारी राजा भारतीय जनमानस में आज भी आदर्श के रूप में माने जाते हैं, वहीं रावण, कंस, जरासंध, हिरण्यकशिपु इत्यादि क्रूर तानाशाही प्रवृत्ति वाले […]

Continue Reading

इनके होते हैं शत्रु अधिक

1. यदि जन्म कुण्डली में षष्ठेश षष्ठ भाव में स्थित हो, तो जातक के सम्बन्धी ही उसके शत्रु होते हैं| 2. यदि पंचमेश द्वादश या षष्ठ स्थान में स्थित हो, तो पुत्र जातक का शत्रु होता है| 3. चतुर्थेश और एकादशेश यदि पंचधामैत्री चक्र में लग्नेश से शत्रुता रखते हों, तो जातक की अपनी माता […]

Continue Reading

जन्म कुण्डली से मित्रता का विचार

इस संसार में खून के रिश्ते भगवान् बनाता है (जैसे माता-पिता, भाई-बहन, चाचा, मामा, बुआ, मौसी आदि), ये रिश्ते ऐसे होते हैं, जिन्हें हम स्वयं नहीं चुन सकते, इन्हें स्वीकार करना हमारी नियती होती है, लेकिन एक रिश्ता ऐसा भी होता है, जो हम स्वयं बनाते हैं, यह रिश्ता मन से बनाया जाता है, जो […]

Continue Reading

विवाह से जुड़े स्‍वप्‍न संकेत

स्‍वप्‍न भावी जीवन का संकेत देते हैं। स्वप्नों से जीवन में होने वाली भावी घटनाओं के बारे में आसानी से संकेत मिल जाते हैं। इन संकेतों को पहचानना जरूरी होता है। विवाह, दाम्पत्य जीवन एवं प्रेम-प्रसंगों से संबंधित कतिपय स्वप्न फल नीचे दिए जा रहे हैं : » स्वप्न में कढ़े हुए वस्त्र देखने पर […]

Continue Reading

इनकी है रचना ‘ॐ जय जगदीश हरे’

प्रत्येक हिन्दू धर्म के घर और मन्दिर में ‘ॐ जय जगदीश हरे’ तथा ‘जय शिव ॐकारा’ आरतियॉं सस्वर गायी जाती हैं और आप भी इन आरतियों से अच्छी तरह परिचित होंगे| सम्भवतः याद भी होगी और अनेक बार ये आरतियॉं गायी भी होंगी, परन्तु इन आरतियों के रचयिता कौन हैं? इसके सम्बन्ध में सम्भवतः आपको […]

Continue Reading

श्री श्री रविशंकर जन्मपत्रिका में विद्यमान हैं यश एवं कीर्ति के योग

श्री श्री रविशंकर आधुनिक भारतीय आध्यात्मिक जगत् के वे सूरज हैं, जिनका आध्यात्मिक प्रकाश 150 से अधिक देशों में त्रस्त मानव के अन्तर्मन के अन्धकार को दूर कर रहा है। साथ ही, उनके द्वारा आर्ट ऑव लिविंग फाउण्डेशन, द इन्टरनेशनल एसोसिएशन फॉर ह्यूमन वेल्यूज आदि संगठनों के माध्यम से प्राकृतिक आपदा, आतंकवाद, पिछड़ापन एवं गरीबी […]

Continue Reading

India-China Tensions-2020

गुरु-शनि की धनु-मकर में युति का गोचर India-China Tensions-2020 बृहस्पति एवं शनि अपनी विशालता एवं धीमी गति के कारण पृथ्वी पर विशेष प्रभाव डालते हैं| यही कारण है कि शनि एवं बृहस्पति का गोचर पृथ्वी निवासियों को स्थायी रूप से प्रभावित करता है| जब-जब ये ग्रह युति बनाकर गोचर करते हैं अथवा परस्पर षडष्टक स्थिति […]

Continue Reading

अखण्ड सत्य के द्रष्टा हैं कबीर

भारत में अनेक सन्त-महात्माओं ने जन्म लेकर समाज को सच्ची राह दिखाई| संवत् 1455 में जब कबीर साहब का प्राकट्य इस धरा पर हुआ, वह समय राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक उथल-पुथल का था| समाज में अलगाव, भेदभाव, अत्याचार, घृणा-द्वेष की पराकाष्ठा विद्यमान थी| ऐसे कठिन समय में कबीर युग नायक की तरह सभी को प्रेम […]

Continue Reading