कैसा रहेगा मकर का शनि सिंह राशि के लिए?

Saturn Transit
सिंह राशि
(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)

सिंह राशि वालों के लिए शनि का मकर राशि में गोचर सामान्यत: शुभफलदायक रहना चाहिए। अब आप कण्टक शनि से मुक्त हो चुके हैं और शनि की शुभ गोचरावधि में प्रवेश कर चुके हैं। स्वास्थ्य एवं पारिवारिक सुख में वृद्धि होगी। साथ ही, आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। मान-सम्मान की स्थितियॉं भी सुधरेंगी।
स्वास्थ्य की दृष्टि से यह गोचरावधि सामान्यत: शुभफलप्रद रहनी चाहिए। विगत गोचरावधि में जिन स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं से आप परेशान रहे थे, उनसे काफी हद तक मुक्ति मिलेगी। दीर्घकालिक रोगों पर भी नियन्त्रण बना रहेगा।
पारिवारिक सुख की दृष्टि से यह गोचरावधि आपके लिए शुभफलप्रद रहनी चाहिए। विगत गोचरावधि में जिन पारिवारिक समस्याओं से परेशान रहे थे, वे अब काफी हद तक दूर होंगी और सन्तान से सम्बन्धित किसी उपलब्धि से मन हर्षित होगा। मान-सम्मान की स्थितियॉं बनेंगी। विवाहयोग्य युवक-युवतियों के विवाह सम्बन्ध तय होंगे तथा घर में मांगलिक कार्य सम्पन्न होंगे।
धन-सम्पत्ति की दृष्टि से यह गोचरावधि आपके लिए शुभ फलदायक है। आय के स्रोतों में वृद्धि होगी तथा अटका हुआ धन भी प्राप्त होगा। पूर्व में किए गए किसी धन निवेश से लाभ होगा। ॠणादि चुकता करना सम्भव होगा, वहीं आय के नवीन स्रोतों का भी सर्जन होगा। स्थायी धन-सम्पत्ति प्राप्ति के भी योग बन रहे हैं। मुकदमे आदि में विजय से भी धनलाभ अथवा सम्पत्ति का लाभ होगा।
यदि आप नौकरी करने वाले हैं, तो इस गोचरावधि में प्रमोशन आदि की उम्मीद की जा सकती है। वेतन में वृद्धि होने की स्थितियॉं बनेंगी। इसके अतिरिक्त आपकी उपलब्धियों को देखते हुए सम्मान या प्रशंसा भी प्राप्त होगी। उच्चाधिकारियों से अच्छे सम्बन्ध बनेंगे तथा जॉब सम्बन्धी सन्तुष्टि प्राप्त होगी।
यदि आप व्यवसायी हैं, तो शनि की यह गोचरावधि आपके लिए शुभ समाचार लेकर आ रही है। व्यवसाय में चल रही बाधाएँ दूर होंगी। व्यवसाय विस्तार की योजनाएँ बनेंगी और उनका क्रियान्वयन भी सम्भव होगा। व्यापार में उन्नति की तथा धनलाभ में वृद्धि की दर तुलनात्मक रूप से अधिक होगी। सरकारी निर्णय से लाभ भी होगा।
अध्ययन की दृष्टि से यह गोचरावधि आपके लिए शुभफलप्रद रहनी चाहिए। विगत गोचरावधि में अध्ययन में जो बाधाएँ चली आ रही थीं, वे अब दूर होंगी तथा अपेक्षानुरूप परीक्षा की तैयारी सम्भव होने से परीक्षा परिणाम भी सुधरेगा। प्रतियोगिता परीक्षार्थियों को भी शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। नौकरी के अभिलाषी व्यक्तियों को भी नौकरी की प्राप्ति की सम्भावना है।
राहतकारी उपाय : आपकी जन्मराशि से शनि का षष्ठस्थ गोचर सामान्यत: शुभफलप्रदायक होता है। इस शुभफल में वृद्धि के लिए तथा किसी भी प्रकार के अशुभ फलों में कमी के लिए निम्नलिखित उपाय करने चाहिए :
1. सातमुखी रुद्राक्ष गले में धारण करना चाहिए।
2. ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सं शनैश्‍चराय नम:।’ मन्त्र का जप करना चाहिए।
3. रोगी एवं वृद्धों की सेवा करनी चाहिए।
4. सदाचरण का पालन करना चाहिए।
5. मांस-मदिरा आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
6. भगवान् शिव एवं हनूमान् जी की उपासना करनी चाहिए।