कैसा रहेगा गुरु का राशि परिवर्तन तुला राशि के लिए?

Jupiter Transit गुरु का धनु राशि में गोचर

तुला
(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
तुला राशि वालों के लिए गुरु का धनु राशि में गोचर उनकी जन्मराशि से तृतीय भाव में रहेगा। तृतीय भाव में गुरु का गोचर सामान्यत: अशुभ फलप्रद रहता है। कार्यों में बाधाएँ एवं विलम्ब की समस्या बढ़-चढ़कर सामने आती है। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी गुरु का तृतीय भाव में गोचर अनुकूल फलप्रद नहीं रहता। पहले से चली आ रही स्वास्थ्य सम्बन्धी बीमारियों में वृद्धि होती है। इसलिए इस सम्बन्ध में सावधानी रखें और नियमित चैकअप करवाते रहेंे। खानपान में भी सावधानी की आवश्यकता है। गृहक्लेश एवं पारिवारिक अशान्ति में वृद्धि हो सकती है। परिजनों के स्वास्थ्य को लेकर चिन्ता हो सकती है। परिजनों से दूर रहने की परिस्थितियॉं बन सकती हैं। इस दौरान आर्थिक समस्याओं में वृद्धि हो सकती है। खर्चों की अधिकता एवं आय में कमी के कारण आर्थिक संकट उत्पन्न हो सकता है। उच्चाधिकारियों से परेशानी का अनुभव होगा। कार्याधिक्य के कारण आप अपना सन्तुलन बनाए रखने में कठिनाई का अनुभव करेंगे। नियम एवं कानूनों के उल्लंघन से बचना चाहिए। व्यवसायियों के लिए भी इन दिनों अच्छी खबर के लिए तरसना पड़ सकता है। व्यवसाय में मन्दी एवं बाधा का सामना करना पड़ सकता है।